होमइकोनॉमी

Budget 2023 : मोदी सरकार के इस बजट से सीनियर सिटीजन्स को हैं ढेर सारी उम्मीदें

Budget 2023 : मोदी सरकार के इस बजट से सीनियर सिटीजन्स को हैं ढेर सारी उम्मीदें

Budget 2023 : मोदी सरकार के इस बजट से सीनियर सिटीजन्स को हैं ढेर सारी उम्मीदें
Profile image

By Alok Priyadarshi  Jan 25, 2023 3:55:38 PM IST (Updated)

Budget 2023: बजट 2023 पेश होने में अब 1 हफ्ते का समय बचा है ऐसे में बजट में हर आयुवर्ग को उमीदें हैं. देश के सीनियर सिटीजन्स यानी वरिष्ठ नागरिक भी इस बार बजट में सरकार से कई उम्मीदें लगाए बैठे हैं

बजट 2023 पेश होने में अब 1 हफ्ते का समय बचा है ऐसे में बजट में हर आयुवर्ग को उम्मीदें हैं. देश के सीनियर सिटीजन्स यानी वरिष्ठ नागरिक भी इस बार बजट में सरकार से कई उम्मीदें लगाए बैठे हैं. सीनियर सिटीजन्स देश के वित्तमंत्री और मोदी सरकार से इस बजट में क्या चाहते हैं, यह जानने के लिए हमारे CNBC आवाज़ के आलोक प्रियदर्शी ने नोएडा में कई वरिष्ठ नागरिकों से बातचीत की.
रेल किराये में छूट मिले
बातचीत के दौरान वरिष्ठ नागरिकों ने बताया कि सरकार उनकी आर्थिक और सामाजिक सुरक्षा के लिए काम करे. उनका कहना था कि सरकार को उनकी पेंशन से जुड़ी विसंगतियों को दूर करना चाहिए ताकि उन्हें कोई परेशानी का सामना न करना पड़े. साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार को रेल किराए में सीनियर सिटीजन्स के लिए छूट को फिर से लागू करना चाहिए.
टैक्स छूट की न्यूनतम सीमा मौजूदा 3 लाख से बढ़े
बातचीत के दौरान सीनियर सिटीजन्स ने मांग की कि सरकार को उनके लिए ब्याज से होने वाली कमाई पर आयकर कटौती में बढ़ोतरी करनी चाहिए. उनका कहना है कि टैक्स छूट की न्यूनतम सीमा मौजूदा 3 लाख से बढ़ाई जानी चाहिए. बजट को लेकर सीनियर सिटीजन्स ने बातचीत में बताया कि हेल्थ इंश्योरेंश और मेडिकल खर्चों पर ज्यादा डिडक्शन मिलना चाहिए.
इनकम टैक्स रिटर्न भरने से छूट
सीनियर सिटीजन्स ने बताय कि उन्हें पेंशन से होने वाली आय पर इनकम टैक्स से पूरी तरह छूट मिलनी चाहिए. साथ ही उनकी मांग है कि इनकम टैक्स रिटर्न भरने से उन्हें छूट मिले या प्रक्रिया और सरल की जानी चाहिए.

Previous Article

Union Budget 2023: आखिरी चरण में पहुंची बजट की तैयारियां, आज होगी हलवा सेरेमनी

Next Article

Budget 2023: आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग को बढ़ावा देने के लिए बजट में हो सकते हैं कई बड़े ऐलान

arrow down

Market Movers

Top GainersTop Losers
CurrencyCommodities
CompanyPriceChng%Chng