होमइकोनॉमी

Budget 2023-बजट में हो सकता है कैपिटल गेन्स टैक्स पर बड़ा फैसला

economy | IST

Budget 2023-बजट में हो सकता है कैपिटल गेन्स टैक्स पर बड़ा फैसला

Mini

Capital gains tax latest news update- सरकार इन्वेस्टर्स पर कई तरह के टैक्स लगाती है ताकि इनकम हासिल की जा सके. इन्हीं में से एक है कैपिटल गेन (Capital Gain Tax) टैक्स. जब कोई घर, कार, बैंक एफडी आदि बेचता है तो इसके बिक्री से हासिल होने वाले मुनाफे पर टैक्स लिया जाता है जिसे कैपिटल गेन टैक्स कहते हैं.

घर, कार, बैंक एफडी, शेयर आदि बेचने कैपिटल गेन टैक्स देना होता है. लेकिन इसके नियम है. सरकर इन सभी से बेचने वाली रकम को आपकी आमदनी मानती है. साल 2018 में इसे स्टॉक मार्केट से जोड़ा गया था. आसान शब्दों में कहें तो किसी भी पूंजी या संपत्ति को बेचकर हुए मुनाफे में लगने वाला टैक्स ही कैपिटल गेन टैक्स है.
इस बार बजट में हो सकता है बड़ा फैसला
एक्सक्लूसिव बातचीत में रेवेन्यू सेक्रेटरी तरुण बजाज का कहना है, कैपिटल गेन टैक्स को सरल बनाने का काम किया गया है. उन्होंने बजट में इसे आसान करने के संकेत दिए है.
शेयर बाजार में कब लगता है कैपिटल गेन टैक्स
अपने देश में अगर शेयर बाजार में 1 साल से ज्यादा के लिए निवेश करते हैं तो निवेश करने पर यह लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन के दायरे में आता है. लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स 10 फीसदी है.
1 लाख तक लॉन्ग टर्म गेन टैक्स फ्री है. यह नियम 1 अप्रैल 2019 से लागू है. 12 महीने से कम समय के लिए निवेश करने पर यह शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन कहलाता है. शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स 15 फीसदी होता है. इस तरह होल्डिंग पीरियड के आधार पर कैपिटल गेन पर टैक्स लगता है.
next story

Market Movers

Top GainersTop Losers
CurrencyCommodities
CompanyPriceChng%Chng