होमपर्सनल फाइनेंस

शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड में से किसमें पैसा लगाना बेहतर, आपको क्या चुनना चाहिए?

शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड में से किसमें पैसा लगाना बेहतर, आपको क्या चुनना चाहिए?

शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड में से किसमें पैसा लगाना बेहतर, आपको क्या चुनना चाहिए?
Profile image

By HINDICNBCTV18.COMDec 3, 2022 12:32:00 PM IST (Updated)

Mutual Funds Pathshala ज्यादातर निवेशक इस दुविधा का सामना करते हैं कि स्टॉक या म्यूचुअल फंड में किसे चुनना चाहिए? इसका कोई गलत या सही उत्तर नहीं है. मामला पूरी तरह से सब्जेक्टिव है और इसका एक दूसरे से तुलना करना सेब और संतरे की तुलना करने जैसा है.

ज्यादातर निवेशक इस दुविधा का सामना करते हैं कि स्टॉक या म्यूचुअल फंड में किसे चुनना चाहिए? इसका कोई गलत या सही उत्तर नहीं है. मामला पूरी तरह से सब्जेक्टिव है और इसका एक दूसरे से तुलना करना सेब और संतरे की तुलना करने जैसा है. सीधे शब्दों में कहें, यदि आप शेयरों में निवेश कर रहे हैं, तो आप अपनी पिक के लिए जिम्मेदार हैं. दूसरी ओर, यदि आप म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं, तो फंड मैनेजर आपकी ओर से यह कॉल लेता है. अपने गोल्स को अचीव करने के लिए आपके कुछ फैक्टर्स को ध्यान में रखकर स्टॉक या म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए.
बाजार
का अनुभव
यदि आपके पास आवश्यक नॉलेज और एक्सपीरियंस है, तो डायरेक्ट स्टॉक इन्वेस्ट काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. हालांकि, अगर आप कभी-कभार ही शेयरों में निवेश करते हैं या सलाह के लिए किसी तीसरे पक्ष पर निर्भर हैं, तो आपको निवेश से पहले दो बार सोचना चाहिए.
दूसरी ओर, म्यूचुअल फंड के साथ मामला अलग है. फंड मैनेजर आपके पोर्टफोलियो की देखभाल करता है. यानी आपको बार-बार मार्केट को ट्रैक करने की जरूरत नहीं होती. संक्षेप में कहे तो म्यूचुअल फंड पैसिव इन्वेस्टर्स के लिए अच्छा काम करते हैं जिनके पास समय की कमी है और अनुभव कम है.
पोर्टफोलियो डायवर्सन
निवेश के मूल सिद्धांतों में से एक, पोर्टफोलियो डायवर्सन है. ये रिस्क को कम करने और पोर्टफोलियो को बैलेंस करने में मदद करता है. विभिन्न क्षेत्रों में 10-15 शेयरों के बास्केट से आपको पोर्टफोलियो डायवर्सन मिलता है. जब आप किसी एक स्टॉक में निवेश करते हैं, तो आपको उस डोमेन में एक्सपोजर मिलता है जिसे कंपनी संचालित करती है. उदाहरण के लिए, यदि आप किसी तकनीकी फर्म के शेयर खरीदते हैं, तो आपका एक्सपोजर उस क्षेत्र तक ही सीमित हो जाता है. दूसरी ओर जब आप म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपका पैसा अलग-अलग सेक्टर्स और स्टॉक में लगता है. इससे आपका पोर्टफोलियो अपने आप ही डायवर्सिफाई हो जाता है.
कभी खुशी कभी गम
स्टॉक से आपको कभी खुशी तो कभी गम मिल सकता है. यदि आपके पास एक मल्टीबैगर है, तो आपका रिटर्न कुछ ही समय में बढ़ सकता है. ये रातों-रात आपके रिटर्न को दोगुना कर सकता है. दूसरी ओर अगर आप से गलत स्टॉक का चुनाव हो गया तो ये आपके इन्वेस्टमेंट को डूबो भी सकता है. म्यूचुअल फंड में हमेशा आपका पोर्टफोलियो डायवर्सिफाई रहता है इसलिए इसमें न तो बहुत ज्यादा और न ही बहुत कम रिटर्न मिलता है.
arrow down

Market Movers

Top GainersTop Losers
CurrencyCommodities
CompanyPriceChng%Chng