होमपर्सनल फाइनेंस

Sukanya Samriddhi Yojana: बेटी के बेहतर भविष्य के लिए शानदार निवेश योजना, जानिए योजना की पूरी डिटेल

Sukanya Samriddhi Yojana: बेटी के बेहतर भविष्य के लिए शानदार निवेश योजना, जानिए योजना की पूरी डिटेल

Sukanya Samriddhi Yojana: बेटी के बेहतर भविष्य के लिए शानदार निवेश योजना, जानिए योजना की पूरी डिटेल
Profile image

By HINDICNBCTV18.COMJan 24, 2023 5:06:38 PM IST (Updated)

Sukanya Samriddhi Yojana: बेटी के बेहतर भविष्य के लिए सुकन्या समृद्धि योजना एक बेहतरीन निवेश स्कीम मानी जाती है. इस स्कीम के तहत 15 साल तक निवेश करना होता है.

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) स्कीम को एक बालिका के भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किया गया था. बेटी के बेहतर भविष्य के लिए सुकन्या समृद्धि योजना एक बेहतरीन निवेश स्कीम मानी जाती है. इस स्कीम के तहत 15 साल तक निवेश करना होता है. जो 21 साल बाद मैच्योर होती है. इस अकाउंट में ऑनलाइन ट्रांसफर, डिमांड ड्राफ्ट, चेक, या कैश के माध्यम पैसे जमा किये जा सकते हैं.
SSY में कितना ब्याज
सुकन्या समृद्धि योजना इंडिया पोस्ट द्वारा दी जाने वाली बचत योजनाओं में से एक है. इस पर लागू ब्याज दरों की समीक्षा हर तिमाही में की जाती है. वर्तमान में सुकन्या समृद्धि खाता (एसएसए) में निवेश पर 7.6 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलता है. हालांकि शुरुआत में इस योजना के तहत अधिक ब्याज दिया जाता था. योजना की समय अवधि पूरी होने के बाद या NRI बनने के बाद इस पर ब्याज नहीं दिया जाता है. इस स्कीम की ब्याज दरें सरकार तय करती है.
कौन खोल सकता है खाता
बालिका के माता-पिता बालिका के नाम पर सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोल सकते हैं. इंडिया पोस्ट के मुताबिक जन्म की तारीख से 10 साल की उम्र तक ही खाता खोला जा सकता है. न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1,50,000 रुपये सालाना के निवेश पर सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं.
पैसे निकलने की अनुमति कब
इस योजना के तहत पढ़ाई के खर्चों को पूरा करने के लिए खाताधारक की उच्च शिक्षा के उद्देश्य से पैसे निकलने की अनुमति दी जाती है. खाते को भारत में कहीं भी डाकघर/बैंक से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है. 18 साल के बाद बालिका के विवाह होने पर खाता समय से पहले बंद किया जा सकता है.
खाता खोलने की तारीख से 21 साल की अवधि पूरी होने पर अकाउंट मैच्योर हो जायेगा. डिपॉजिट I.T.Act की धारा 80-C के तहत कटौती के लिए योग्य है. खाते से मिला ब्याज I.T.Act की धारा -10 के तहत इनकम टैक्स से मुक्त है.
एक वित्तीय वर्ष में मिनिमम अमाउंट यानी 500 रुपये इन्वेस्ट न करने पर, अकाउंट को डिफॉल्ट घोषित कर लिया जाता है. हालांकि 50 रुपये का फाइन देकर अकाउंट को फिर से एक्टिव किया जा सकता है. 5 लाख रुपये से ज्यादा इन्वेस्ट करने पर अतिरिक्त अमाउंट पर कोई ब्याज नहीं मिलता है.
अकाउंट खोलने के लिए किन दस्तावेजों की जरूरत
इस योजना के तहत अकाउंट खोलने के लिए SSY अकाउंट ओपनिंग फॉर्म, बालिका का जन्म प्रमाण पत्र, डिपॉजिटर का पहचान प्रमाण और एड्रेस प्रूफ जमा करना होता है. बैंक या डाकघर के कहने पर अन्य कागज जमा करने पद सकते हैं.

Previous Article

Gold Rate Today : चांदी हुई सस्ती, लेकिन सोने के दामों ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

Next Article

CNBC Exclusive: अब दूर होगी खुले रुपयों की टेंशन, रिजर्व बैंक प्लान कर रहा स्पेशल ATM लगाने की प्लानिंग

arrow down

Market Movers

Top GainersTop Losers
CurrencyCommodities
CompanyPriceChng%Chng