होमपर्सनल फाइनेंस

म्यूचुअल फंड की ओपन-एंडेड फंड स्कीम्स के बारे में जानिए? इसमें निवेश करने के क्या फायदे हैं?

म्यूचुअल फंड की ओपन-एंडेड फंड स्कीम्स के बारे में जानिए? इसमें निवेश करने के क्या फायदे हैं?

म्यूचुअल फंड की ओपन-एंडेड फंड स्कीम्स के बारे में जानिए? इसमें निवेश करने के क्या फायदे हैं?
Profile image

By Ankit Tyagi  Jan 26, 2023 10:12:14 AM IST (Updated)

What is open ended mutual fund : म्‍यूचुअल फंड में पैसा लगाने वालों को ओपन एंडेड फंड की जानकारी जरूरी होनी चाहिए.

म्यूचुअल फंड को दो कैटेगरी में बांटा जाता है. ओपन-एंडेड म्यूचुअल फंड और क्लोज-एंडेड म्यूचुअल फंड. ओपन-एंडेड स्कीम्स कंटीन्यूअस बेसिस पर सब्सक्रिप्शन और रिपर्चेज के लिए उपलब्ध रहती हैं. इनका कोई फिक्सड मैच्योरिटी पीरियड नहीं होता. निवेशकों के पास एनएवी पर यूनिट खरीदने और बेचने का ऑप्शन होता है जिसे डेली बेसिस पर अपडेट किया जाता है. इन एसेट्स के पिछले प्रदर्शन को ट्रैक किया जा सकता है जो निवेशक को सही निर्णय लेने में मदद करता है. आसान शब्दों कहें तो ओपन एंडेड फंड में काफी आजादी है. यहां आप जब चाहें तब निवेश कर सकते हैं और कभी भी इन फंड से निकल सकते हैं. ओपन फंड्स का नेट एसेट वैल्यू (Net Asset Value-NAV) रोजाना तय होता है. नेट एसेट वैल्यू के आधार पर फंड की खरीद-बिक्री होती है.
ओपन एंडेड फंड में निवेश करने के क्या फायदे हैं?
1. कभी भी विड्रॉ करने की सुविधा-ओपन-एंडेड फंड में फिक्स्ड मैच्योरिटी पीरियड न होने के कारण फंड को NAV के आधार पर कभी भी विड्रॉ किया जा सकता है. यानी आप इसमें मैक्सिमम लिक्विडिटी एन्जॉय कर सकते है.
2. ट्रैक रिकॉर्ड की उपलब्धता-क्लोज-एंडेड फंडों के विपरीत ओपन-एंडेड फंड का परफॉर्मेंस ट्रैक रिकॉर्ड उपलब्ध रहता है. यह निवेशकों को फंड का हिस्टोरिकल डेटा देखकर निवेश का फैसला लेने में मदद करता है.
3. सिस्टमैटिक प्लान-ओपन-एंडेड फंड निवेशकों को निवेश और निकासी दोनों के लिए सिस्टमैटिक प्लान का इस्तेमाल करने की अनुमति देते हैं. निवेशकों को क्लोज-एंडेड फंड में एसआईपी, एसडब्ल्यूपी और एसटीपी का उपयोग करने की सुविधा नहीं मिलती.
ओपन एंडेड फंड में किसे निवेश करना चाहिए?किसी भी प्रकार के म्यूचुअल फंड में निवेश इन्वेस्टर के निवेश उद्देश्यों पर निर्भर करता है. ये फंड उन निवेशकों के लिए सबसे उपयुक्त हैं जो बिना किसी प्रतिबंध के तरलता तक आसान पहुंच चाहते हैं. जो अपने निवेश पोर्टफोलियो में विविधता लाना चाहते हैं वो भी इसमें निवेश कर सकते हैं.
ओपन-एंडेड या क्लोज-एंडेड फंड क्या बेहतर?ओपन-एंडेड फंड निवेशक को क्लोज-एंडेड फंड के विपरीत कभी भी फंड में प्रवेश करने और बाहर निकलने की अनुमति देते हैं. क्लोज-एंडेड फंड में निवेश की अवधि तय होती है.ओपन-एंडेड फंड एसआईपी और एसडब्ल्यूपी के माध्यम से लेनदेन की सुविधा भी देते हैं, जिसकी क्लोज-एंडेड फंड के मामले में अनुमति नहीं है. आप अपनी जरूरत के हिसाब से इसे चुन सकते हैं.
 
arrow down

Market Movers

Top GainersTop Losers
CurrencyCommodities
CompanyPriceChng%Chng