होमपर्सनल फाइनेंस

निवेशकों को फ्लेक्सी कैप फंड्स को अपने पोर्टफोलियो में क्यों जोड़ना चाहिए

निवेशकों को फ्लेक्सी कैप फंड्स को अपने पोर्टफोलियो में क्यों जोड़ना चाहिए

निवेशकों को फ्लेक्सी कैप फंड्स को अपने पोर्टफोलियो में क्यों जोड़ना चाहिए
Profile image

By HINDICNBCTV18.COMJan 25, 2023 12:18:38 PM IST (Published)

फ्लेक्सी कैप के पास निवेश करने के लिए लचीलापन होता है. इसमें फंड मैनेजर अपने हिसाब से निवेशकों का पैसा स्मॉल, मिड या लार्ज कैप में निवेश करते हैं.

व्रिजेश कसेरा,
फंड मैनेजर, मिरे एसेट इन्‍वेस्‍टमेंट मैनेजर्स
म्‍यूचुअल फंड में फ्लेक्सी कैप फंड किसी भी लंबी अवधि के निवेशक के लिए मुख्य इक्विटी होल्डिंग है. इसमें 'कहीं भी जाओ' फंड की अपील है जो निवेश निर्णय के आधार पर किसी भी निवेश योग्य अवसर में कितनी भी मात्रा में निवेश कर सकता है, वहीं कितनी भी अवधि तक इसमें निवेश बनाए रख सकता है. म्‍यूचुअल फंड की अन्य श्रेणी की योजनाओं में मार्केट कैप की सीमा होती है, वहीं फ्लेक्सी कैप के पास निवेश करने के लिए लचीलापन होता है. इसमें फंड मैनेजर अपने हिसाब से निवेशकों का पैसा स्मॉल, मिड या लार्ज कैप में निवेश करते हैं.
फंड मैनेजर इस बात के लिए बाध्य नहीं होते कि किस फंड श्रेणी में कितना निवेश करना है। हालांकि इसके लिए शर्त यह है कि फंड मैनेजर को 65 फीसदी रकम इक्विटी में ही निवेश करना होगा। इस फंड की यही खासियत निवेशकों को आकर्षित करती है. निवेशक उचित निवेश निर्णय लेने के लिए योजना में निवेश करने की अपनी आवश्यकता को आउटसोर्स कर रहे हैं.
निवेशकों का भरोसा लगातार बढ़ा
निवेशकों का भरोसा इसकी ओर लगातार बढ़ा है, जिसने फ्लेक्सी कैप को आज म्यूचुअल फंड की अलग अलग योजनाओं में सबसे बड़ी इक्विटी निवेश श्रेणी में बदल दिया है. फ्लेक्सीकैप श्रेणी की बात करें तो वर्तमान में इसमें 1.25 करोड़ फोलियो है और इसका कुल एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) यानी प्रबंधन के तहत संपत्ति 2.49 लाख करोड़ पहुंच गया है. इसलिए यह प्रबंधन के तहत सक्रिय इक्विटी परिसंपत्तियों में सबसे बड़ी इक्विटी फंड श्रेणी है, जो दिसंबर 2022 के अंत तक 15.41 लाख करोड़ थी. (सोर्स: एएमएफआई डेटा दिसंबर -22 के अंत तक). साफ है कि फ्लेक्सी कैप श्रेणी में निवेशकों का आकर्षण लगातार बढ़ रहा है.
इस श्रेणी में हर मार्केट कैप में निवेश करने की सुविधा है, जिसके चलते यह फंड प्रबंधन प्रक्रिया पर जिम्मेदारी लाता है. सुरक्षा और जोखिम प्रबंधन के लिए वित्तीय सफलता की राह की पहचान किया जाना चाहिए. फंड प्रबंधन हमेशा विवेकपूर्ण जोखिम प्रबंधन के बारे में होता है, जितना कि निवेश रिटर्न के बारे में होता है.
सेक्टर के आधार या मार्केट कैप
फ्लेक्सी कैप फंड निफ्टी 500 इंडेक्स में शामिल कंपनियों में निवेश करते हैं. इस बड़े सेट तक पहुंचने के दो तरीके हैं. पहला और सामान्य तरीका निफ्टी 500 के सेक्टर ब्रेक अप से प्रेरित और निर्देशित एक सेक्टोरल आवंटन पर विचार करना है. यह टॉप-डाउन निवेश का एक पहलू होगा, जहां मैक्रो और समग्र आर्थिक परिस्थितियां निवेश के लिए गाइडिंग यानी मार्गदर्शन फैक्‍टर हैं.
हालांकि, सेक्टोरल निवेश की बात करें तो इसमें ध्‍यान देने वाली बात यह है कि अलग अलग सेक्‍टर का प्रदर्शन हर साल बदल सकता है. किसी साल किसी सेक्‍टर ने बेहतर किया तो किसी साल दूसरे सेक्‍टर ने. इसलिए, हर साल सबसे पहले यह देखना चाहिए कि किस सेक्‍टर ने बेहतर किया तो किस सेक्टर का प्रदर्शन सबसे खराब रहा? इस आधार पर हम यह चयन कर सकते हैं कि कहां से पैसा निकालकर कहां लगाना है. किसी साल खराब प्रदर्शन वाले सेक्‍टर का आने वाले दिनों में प्रदर्शन बेहतर भी हो सकता है, इस आधार पर भी रणनीति में बदलाव हो सकता है.दृष्टिकोण को जन्म दे सकता है.
दूसरा तरीका मार्केट कैप वैल्यूएशन को देखने और इस आधार पर आवंटन करने का अप्रोच है. मार्केट कैप सेगमेंट, लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप आमतौर पर सेक्टोरल के उलट लंबी ट्रेंडलाइन दिखाते हैं.ये आमतौर पर सालाना आधार पर रुझान दिखाते हैं. तीन मार्केट कैप सेगमेंट निफ्टी 50 इंडेक्स के सापेक्ष वैल्यूएशन प्रदर्शित करते हैं और कम या ज्यादा वैल्यूएशन की विस्तारित अवधि होती है.
सेक्टोरल का सामान्य तरीका या मार्केट कैप सापेक्ष मूल्यांकन का दूसरा तरीका पोर्टफोलियो आवंटन के लिए कुछ बेहतर मार्गदर्शन दे सकता है, हालांकि फ्लेक्सीकैप फंड के लिए, अप्रोच थोड़ा बारीक हो सकता है. इसके अलावा, एक फ्लेक्सी कैप फंड किसी भी निवेश योग्य अवसर में निवेश करने की स्वतंत्रता देता है, भले ही वह किसी भी मार्केट-कैप ब्रैकेट से संबंधित हो.
निवेश करने के लिए मार्केट कैप की कोई सीमा नहीं
इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि फ्लेक्सी कैप फंड के तहत निवेश करने के लिए मार्केट कैप की कोई सीमा नहीं है. जबकि अन्य अन्य मार्केट कैप-ओरिएंटेड स्कीम को लार्जकैप, मिडकैप और स्‍मालकैप में तय सीमा के आधार पर फंड रखना होता है. फ्लेक्सी कैप फंड में निवेश को सभी समय सीमाओं में रखा जा सकता है, जब तक निवेश में योग्यता है.
फ्लेक्सी कैप की इसी खासियत के चलते इसका निवेशकों में आकर्षण और विशिष्टता है. फंड वर्तमान में सबसे अच्छे निवेश आइडिया को होल्ड कर रहे हैं, जो बहुत ज्यादा रिसर्च और स्टडी के जरिए फिल्टर किए गए हैं. इसमें उन्‍हीं निवेश की पहचान की जाती है, जिनमें ग्रोथ की क्षमता बहुत ज्यादा होती है. यह अप्रोच अन्य श्रेणी की योजनाओं के लिए भी उपलब्ध है, हालांकि, यह फ्लेक्सीकैप फंड पोर्टफोलियो के लिए उपयुक्त है.
डाटा से पता चलता है कि मार्केट कैप के भीतर जो कंपनियां, स्‍माल, मिड से लार्ज की ओर बढ़ती हैं, वे एक अवधि में कंपाउंडिंग ग्रोथ यानी चक्रवृद्धि वृद्धि का संकेत देती हैं. इसी तरह, कई अपने बकेट में लगातार बने रहते हैं, और कुछ अपना रास्ता खो देते हैं और एक अवधि में चार्ट टेबल से नीचे चले जाते हैं.
कैप बकेट के भीतर रहना, सबसे ज्यादा योगदान देने वाले और टॉप लूजर भी हर साल बदलते हैं. ये 2 ट्रेंड यह अनिवार्य बनाते हैं कि सही निवेश विचार की पहचान निवेश अनुभव का बड़ा निर्धारक है. हमारा मानना है कि बॉटम-अप अप्रोच से डेंटिफिकेशन में मदद मिलती है और फ्लेक्सी कैप स्ट्रक्चर शुद्ध रूप से मेरिट के आधार पर निवेशित रहने में मदद करता है.
मिराए एसेट का मानना है कि मूल्यांकन, अवसर और प्रबंधन गुणवत्ता के माध्यम से सभी व्यवसायों को देखने के तरीके से हमें इक्विटी एसेट का प्रबंधन करने के लिए एक सही निवेश आइडिया देने में मदद मिलती है. हमने अपनी सभी मौजूदा इक्विटी योजनाओं के माध्यम से पिछले 15 साल से इन मार्गदर्शक सिद्धांतों का उपयोग किया है जो निवेशकों के लिए स्थिर निवेश अनुभव रहा है. हम अब उन्हीं सिद्धांतों को फ्लेक्सी कैप श्रेणी पर लागू करना चाहते हैं जो निवेशकों की पसंद है। इस एनएफओ के साथ, हम अपने निवेशकों और डिस्ट्रीब्यूटर्स पार्टनर के लिए एक निवेश विकल्प की शुरुआत करना चाहते हैं.
arrow down

Market Movers

Top GainersTop Losers
CurrencyCommodities
CompanyPriceChng%Chng