होमपर्सनल फाइनेंस

Zero income tax : 22 लाख तक की कमाई पर भी नहीं देना होगा आपको एक रुपये का टैक्स, जानिए गोल्ड रूल

personal finance | IST

Zero income tax : 22 लाख तक की कमाई पर भी नहीं देना होगा आपको एक रुपये का टैक्स, जानिए गोल्ड रूल

Mini

Zero income tax : नियम को ऐसे समझिए कि फैमिली की इनकम अगर 45 लाख रुपये है और वो परिवार के मुखिया के हाथों में आती है. इस कमाई पर नई टैक्स स्कीम के तहत 11 लाख 31 हजार रुपये का टैक्स बनता है, जो सीधे तौर पर कमाई का कुल 25 फीसदी हिस्सा है लेकिन आप एक बड़ा हिस्सा टैक्स का बचा सकते हैं.

इनकम टैक्स नियम के तहत आपको अपनी निजी कमाई के हिसाब से टैक्स स्लैब का अंदाजा है लेकिन फैमिली इनकम पर कैसे टैक्स लागू होता है. टैक्स एक्सपर्ट मुकेश पटेल ने सीएनबीसी आवाज़ से बात करते हुए फैमिली इनकम पर टैक्स कैसे लगाया जाता है, इस पर जानकारी दी. मुकेश पटेल ने बताया कि टैक्स बचत के लिए गोल्डन रूल ये है कि आप फैमिली की इनकम को जितनी इकाइयों में बांटा जा सकता है.
इस पूरे नियम को ऐसे समझिए कि फैमिली की इनकम अगर 45 लाख रुपये है और वो परिवार के मुखिया के हाथों में आती है. इस कमाई पर नई टैक्स स्कीम के तहत 11 लाख 31 हजार रुपये का टैक्स बनता है, जो सीधे तौर पर कमाई का कुल 25 फीसदी हिस्सा है. टैक्स बचाने के लिए बेहद जरूरी कदम उठाने होंगे. आइए जानते हैं कि कौन से हैं वो कदम?
1. कुल कमाई को तीन हिस्सों में बांटिए
टैक्स बचाने के लिए परिवार की कुल 45 लाख रुपये की कमाई को रणनीतिक तौर पर तीन हिस्सों में बांट दीजिए. अब वो चाहें आप हों, पत्नी हो या आपका व्यस्क बेटा हो. इसके अलावा आप HUL भी बना सकते हैं. कुल कमाई को तीन हिस्सों में बांटने के बाद 45 लाख रुपये 15 लाख प्रति व्यक्ति हो जाएगी.
इस कमाई के हिसाब से प्रति व्यक्ति टैक्स 1.95 लाख रुपये हो जाएगा. जो औसतन 25 फीसदी से कम होकर 12-13 फीसदी हो जाएगा. इस तरह से आप 12 फीसदी तक बचत कर सकते हैं. ये बचत करीब 5 लाख 40 हजार की होगी. बशर्ते तीनों का कमाई में कंट्रिब्यूशन होना चाहिए और इनवेस्टमेंट इनकम को फैमिली के सदस्यों में बांटें.
2. बाइस लाख तक की कमाई पर बचाएं टैक्स
अगर परिवार की कमाई 22 लाख रुपये है तो इतनी कमाई पर आपको बिल्कुल टैक्स नहीं देना होगा. नियम के मुताबिक इतनी कमाई पर आपको 20 फीसदी तक टैक्स देना पड़ता है, जो करीब 4 से 4.5 लाख रुपये टैक्स होता है. नियम मुताबिक टैक्स बचाने के लिए आपको 22 लाख कमाई को तीन हिस्सों में बांटना होगा.
इनकम टैक्स में मिलने वाली छूट के हिसाब से पति-पत्नी के केस में आप 8 से 9 लाख रुपये की कमाई पर आपको टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा. आप 80C, 80D और 24 सेक्शन जैसे दूसरे विकल्पों में निवेश पर छूट हासिल कर सकते हैं. इसके लिए आपको 9 लाख, 9 लाख और 4 लाख तीन अलग अलग लोगों में बांटकर दिखाना होगा.
next story

Market Movers

Top GainersTop Losers
CurrencyCommodities
CompanyPriceChng%Chng