होमशेयर बाजार

    बड़ी खबर- बोनस, स्टॉक स्प्लिट के तहत शेयर अलॉटमेंट से जुड़े नए नियम जल्द, सेबी ने की पूरी तैयारी

    बड़ी खबर- बोनस, स्टॉक स्प्लिट के तहत शेयर अलॉटमेंट से जुड़े नए नियम जल्द, सेबी ने की पूरी तैयारी

    बड़ी खबर- बोनस, स्टॉक स्प्लिट के तहत शेयर अलॉटमेंट से जुड़े नए नियम जल्द, सेबी ने की पूरी तैयारी
    Profile image

    By CNBCTV18.COMNov 25, 2022 9:05:27 AM IST (Updated)

    सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बोनस, स्टॉक स्प्लिट के तहत निवेशकों के खाते में कब तक शेयर जाएंगे इस पर सेबी नए नियम लाने जा रही है.

    आम निवेशकों के हितों का ख्याल रखने के लिए बिजनेस चैनल सीएनबीसी आवाज़ लगातार कदम उठाता रहता है. इसी कड़ी में मैनेजिंग एडिटर अनुज सिंघल ने नायका के शेयर विभाजन की एक्स डेट और लॉक इन की डेट को लेकर सवाल खड़े किए थे. उन्होंने बताय था कि निवेशकों के लिए ये कदम सही नहीं है. क्योंकि किसी निवेशक को उस दिन शेयर बेचना होता तो सिर्फ एक ही शेयर बेच पाते. ऐसे में निवेशकों को फायदे की जगह बड़ा नुकसान होता. मनीकंट्रोल की खबर के मुताबिक, सेबी इस पर कड़े कदम उठाने की तैयारी कर रही है. शेयर अलॉटमेंट के नए नियम जल्द आने वाले है.
    क्या है मामला-
    वहीं, दूसरी ओर बोनस शेयर जारी होने के बाद से Easy Trip Planners के शेयर में करीब 40 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. लेकिन इस तूफानी तेजी के बाद एक्सचेंज ने कंपनी से सवाल पूछे है.
    मनीकंट्रोल ने अपनी एक रिपोर्ट में मार्केट एक्सपर्ट के हवाले से बताया कि बोनस इश्यू को लेकर नियमों में ढील का ऑपरेटर्स फायदा उठा रहे हैं. आमतौर पर बोनस इश्यू और शेयर विभाजन के बाद शेयर 14 दिन में अलॉट हो जाते है. लेकिन कई प्रमोटर्स इनका फायदा उठा रहे हैं.
    आपको शेयर विभाजन (Stock Slipt) क्या होता है और निवेशकों के लिए इसके क्या मायने हैं इसके बारे में बताते हैं- 
    किसी शेयर की फेस वैल्यू को कम करना शेयर विभाजन कहलाता है. यानी 10 की फेस वैल्यू वाले शेयर की फेस वैल्यू 2 की जाती है तो शेयर को 5 हिस्सों में विभाजित करना होगा. विभाजन के साथ ही रिकॉर्ड डेट पर शेयर का बाज़ार भाव भी 5 हिस्सों में एडजस्ट हो जाएगा. शेयर विभाजन ख़ास तौर पर लिक्विडिटी और वॉल्यूम बढ़ाने के मकसद से किया जाता है. शेयर विभाजन करने का मकसद अधिक से अधिक रीटेल निवेशकों को हिस्सेदार बनाना होता है.
    बोनस शेयर क्या होता है, इससे निवेशकों को क्या लाभ है?
    कंपनी जब निवेशकों को मुफ्त में शेयर देती है तो उसे बोनस शेयर कहा जाता है. निवेशकों को बोनस शेयर ख़ास अनुपात में मिलता है. यानी अगर कोई कंपनी 3:2 का बोनस देती है तो इसका मतलब है कि हर 2 शेयर पर आपको 3 बोनस शेयर मिलेंगे. हालांकि बोनस इश्यू के बाद इक्विटी कैपिटल बढ़ जाता है, लेकिन फेस वैल्यू में कोई बदलाव नहीं होता. फेस वैल्यू में बदलाव नहीं होने से निवेशक को भविष्य में इसका फ़ायदा ज़्यादा डिविडेंड के तौर पर होता है.
    arrow down

    Market Movers

    CompanyPriceChng%Chng